World Wide Web google: मानव ज्ञान के आधुनिक अवतार की सालगिरह

वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) को टिम बरर्नर्स ली ने सन 1989 में जिनेवा के यूरोपीय नाभिकीय अनुसंधान संगठन में काम करते हुए ईजाद किया था
World Wide Web google: मानव ज्ञान के आधुनिक अवतार की सालगिरह
टिम बर्नर्स ली

नई दिल्ली: गूगल (Google) ने WWW यानी कि वर्ल्डवाइड वेब (World Wide Web) की 30वीं सालगिरह पर अपना खास डूडल (Doodle) बनाया है. इस डूडल में वैश्विक स्तर पर सूचनाओं का खजाना हासिल करने की तकनीक को प्रतीक के रूप में दिखाया गया है.

वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) जिसे आम तौर पर वेब कहा जाता है, आपस में परस्पर जुड़े हाइपरटेक्स्ट दस्तावेजों को इंटरनेट द्वारा प्राप्त करने की प्रणाली है. एक वेब ब्राउजर की सहायता से हम उन वेब पन्नों को देख सकते हैं जिनमें टेक्स्ट, फोटो (Image), वीडियो, एवं अन्य मल्टीमीडिया शामिल होता है. हाइपरलिंक की सहायता से उन पेजों के बीच जुड़ाव होता है.

WWW टिम बरर्नर्स ली ने सन 1989 में ईजाद किया था. तब वे जिनेवा के यूरोपीय नाभिकीय अनुसंधान संगठन में काम कर रहे थे. इसे सन 1992 में जारी किया गया था. उसके बाद से बरनर्स ली ने वेब के स्तरों के विकास में सक्रिय भूमिका अदा की. हाल के वर्षों में उन्होंने सीमेंटिक वेब (Semantic Web) विकसित करने की बात कही है.

Olga Ladyzhenskaya: यूनिवर्सिटी में एंट्री पर थी रोक फिर भी की डॉक्ट्रेट, बनीं महान Mathematician, Google ने बनाया Doodle

वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) वास्तव में इंटरनेट पर सभी संसाधनों और उपयोगकर्ताओं का संयोजन है जिसमें Hypertext Transfer Protocol (HTTP) का उपयोग किया जाता है. वर्ल्ड वाइड वेब कंसोर्टियम (W3C) ने इसकी एक व्यापक परिभाषा दी है-  "वर्ल्ड वाइड वेब नेटवर्क सुलभ जानकारी का ब्रह्मांड है, यह मानव ज्ञान का एक अवतार है."

वर्ल्ड वाइड वेब (WWW), जिसे आमतौर पर वेब के रूप में जाना जाता है, एक ऐसा सूचना स्थल है जहां दस्तावेजों और अन्य वेब संसाधनों की पहचान एकरूपता के साथ की जा सकती है.
विकिपीडिया के अनुसार वर्ल्ड वाइड वेब में दस्तावेजों और अन्य वेब संसाधनों को यूनिफ़ॉर्म रिसोर्स लोकेटर द्वारा पहचाना जाता है, जो हाइपरटेक्स्ट द्वारा इंटरलिंक किया जा सकता है, और इंटरनेट के माध्यम से सुलभ है.

Previous
Next Post »